शिशु में कब्‍ज को दूर करने के लिए, सौ नुस्‍खों से तेज है ये तरीका

0
173

शिशुओं में कब्‍ज और पाचन से संबंधी समस्‍याएं बहुत देखी जाती हैं। इन समस्‍याओं में सबसे आम है कब्‍ज की शिकायत। शिशु के खानपान में कुछ खास चीजों को शामिल कर के कब्‍ज की समस्‍या से राहत पाई जा सकती है।

यहां हम आपको बेबी के लिए एक ऐसी रेसिपी के बारे में बता रहे हैं, जो कब्‍ज के साथ-साथ पेट से जुड़ी कई परेशानियों को दूर करने की क्षमता रखती है।

​किन चीजों की जरूरत है

बच्‍चों में कब्‍ज को दूर करने के लिए इस रेसिपी को बनाने में आपको चाहिए एक चम्‍मच सौंफ, दो कप कटे हुए आडू और एक कप ठंडे मटर।

​क्‍या है बनाने का तरीका

navbharat times
  • पहले एक पैन लें और उसे दो मिनट तक उबालें।
  • अब इसमें स्‍टीमर बास्‍केट रखें और उस पर सौंफ को रख दें। इसे ढक कर 7 मिनट तक पकाएं।
  • इसमें आडू और मटर डालकर 3 से 5 मिनट और पकाएं।
  • इसके बाद इसे ठंडा होने दें। फिर सारी चीजों को एक ब्‍लेंडर या फूड प्रोसेसर में डालकर ब्‍लेंड कर लें।
  • प्‍यूरी तैयार है। आप चाहें तो पानी डालकर इसे गाढ़ा या पतला कर सकते हैं।

​कितने बड़े बच्‍चे को खिलाएं

navbharat times

कब्‍ज को दूर करने वाली यह रेसिपी 6 महीने से अधिक उम्र के बच्‍चों के लिए है। आप इसे एक बार बनाकर 3 से 4 दिनों के एयर टाइट कंटेनर में भरकर फ्रिज में भी रख सकते हैं।

चलिए अब जानते हैं कि इस रेसिपी में इस्‍तेमाल हुई चीजों से बच्‍चे को क्‍या फायदे मिलते हैं।

​बच्‍चों के लिए आडू खाने के फायदे

navbharat times

आडू में कई तरह के विटामिन जैसे कि विटामिन ए और सी होता है। ये बच्‍चे की आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करते हैं।

बच्‍चों के परिसंचरण तंत्र और बॉडी में खून के प्रवाह को बढ़ाने के लिए पोटैशियम जरूरी होता है। आडू में पोटैशियम होता है जो शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर करती है।

इस फल में फ्लोराइड होता है जो दांतों के विकास में सहायता करता है और कीड़ा लगने से बचाता है। इसमें मौजूद फास्‍फोरस और कैल्शियम भी हड्डियों को मजबूत करता है।

​शिशु को मटर खिलाने के लाभ

navbharat times

मटर खाने से इम्‍यूनिटी मजबूत होती है। यह होमोसिस्टीन लेवल को कम कर के हार्ट प्रॉब्‍लम के जोखिम को घटाते हैं। मटर के सेवन से पाचन ठीक रहता है कि जिससे कब्‍ज से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। इससे हड्डियां भी स्‍वस्‍थ रहती हैं।

मटर में कई तरह विटामिन, खनिज पदार्थ और फाइबर होते हैं। इसमें विटामिन ए, बी1, बी, के और विटामिन सी होता है। खनिज पदार्थों की बात करें तो मटर में मैग्‍नीशियम, पोटैशियम, आयरन और फास्‍फोरस भी होता है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, नियासिन और फोलिक एसिड भी होता है।

​सौंफ खाने से क्‍या होता है

navbharat times

अगर बच्‍चे का पेट खराब रहता है या उसे पेट में दर्द रहता है, तो सौंफ उसके लिए काफी फायदेमंद रहेगी। इससे पेट या पाचन संबंधी परेशानियों से तुरंत राहत मिलती है।

पेट में जब गैस फंस जाती है, तो इससे तेज दर्दभरी ऐंठन उठती है। इसे कोलिक प्रॉब्‍लम कहते हैं जिसमें बच्‍चा दर्द से बहुत रोता है। ऐसे में सौंफ कोलिक की परेशानी से राहत दिलाने में मदद कर सकती है।

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here