Harvard ने बताया खाना पकाने का सबसे हेल्‍दी तरीका, नहीं लगेगी शरीर को कोई बीमारी

0
29
Harvard ने बताया खाना पकाने का सबसे हेल्‍दी तरीका, नहीं लगेगी शरीर को कोई बीमारी



भोजन को पकाने का सबसे बेहतर विकल्प क्या है लोग अक्सर इसकी खोज में लगे रहते हैं। इसमें भी लोग यह चाहते हैं कि भोजन जल्दी पक जाए और उसके अधिकतम लाभ शरीर को मिल सके। ऐसे में जब खाना पकाने की तकनीक की बात आती है तो इसमें एयर फ्राइंग या बेकिंग का पुराना तरीका लोगों को खासा पसंद आता है। लेकिन एक सच बात यह भी है कि जब तक आप किसी तरीके को आजमा नहीं लेते, तब तक आप यह तय नहीं कर पाते कि आपके लिए कौन सा तरीका सही है और कौन सा नहीं। हालांकि आप प्रत्येक तरीके को अपनाकर शरीर पर उनका क्या प्रभाव पड़ रहा है। इसके जरिए भी भोजन पकाने का सही तरीका पता लगा सकते हैं। वहीं आज के समय में खाना पकाने के लिए स्टिर फ्राई तरीका खासा पसंद किया जा रहा है। इस तरीके के जरिए आप भोजन को बहुत आसानी से और जल्दी पका लेते हैं। हालांकि इस तरीके के उपयोग उन रेसिपीज पर किया जाता है, जो जल्दी पक जाती है। इसके अलावा हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग में एक लेख प्रकाशित किया गया था। इसमें एक महीने तक भोजन को स्टिर फ्राइंग के जरिए तैयार किया गया था। ऐसे में आप भी चाहें तो इस तरीके के जरिए ब्रेकफास्ट, स्नैक्स, लंच और डिनर पका सकते हैं। आइए जानते हैं इसके फायदे और कैसे होती है स्टिर फ्राइंग।

क्या आप जानते हैं कि भोजन को किस तरह पकाकर उसके पोषक तत्वों का लाभ अधिक हो सकता है। अगर नहीं तो एक्सपर्ट बता रहे हैं स्टिर फ्राई की प्रक्रिया के बारे में। आइए जानते हैं कैसे हैं यह अधिक फायदेमंद और किस तरह किया जाता है स्टिर फ्राई।

Harvard ने बताया खाना पकाने का सबसे हेल्‍दी तरीका, नहीं लगेगी शरीर को कोई बीमारी

भोजन को पकाने का सबसे बेहतर विकल्प क्या है लोग अक्सर इसकी खोज में लगे रहते हैं। इसमें भी लोग यह चाहते हैं कि भोजन जल्दी पक जाए और उसके अधिकतम लाभ शरीर को मिल सके। ऐसे में जब खाना पकाने की तकनीक की बात आती है तो इसमें एयर फ्राइंग या बेकिंग का पुराना तरीका लोगों को खासा पसंद आता है। लेकिन एक सच बात यह भी है कि जब तक आप किसी तरीके को आजमा नहीं लेते, तब तक आप यह तय नहीं कर पाते कि आपके लिए कौन सा तरीका सही है और कौन सा नहीं। हालांकि आप प्रत्येक तरीके को अपनाकर शरीर पर उनका क्या प्रभाव पड़ रहा है। इसके जरिए भी भोजन पकाने का सही तरीका पता लगा सकते हैं।

वहीं आज के समय में खाना पकाने के लिए स्टिर फ्राई तरीका खासा पसंद किया जा रहा है। इस तरीके के जरिए आप भोजन को बहुत आसानी से और जल्दी पका लेते हैं। हालांकि इस तरीके के उपयोग उन रेसिपीज पर किया जाता है, जो जल्दी पक जाती है। इसके अलावा

हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग

में एक लेख प्रकाशित किया गया था। इसमें एक महीने तक भोजन को स्टिर फ्राइंग के जरिए तैयार किया गया था। ऐसे में आप भी चाहें तो इस तरीके के जरिए ब्रेकफास्ट, स्नैक्स, लंच और डिनर पका सकते हैं। आइए जानते हैं इसके फायदे और कैसे होती है स्टिर फ्राइंग।

​स्टिर फ्राइंग के फायदे
​स्टिर फ्राइंग के फायदे

आप सब्जियों से लेकर मीट तक को स्टिर

फ्राइंग

के जरिए पका सकते हैं। एक कलरफुल और पोषक तत्वों से भरी थाली तैयार करने के लिए यह एक बेहतर विकल्प है।

स्टिर फ्राइंग डिशेज को आप आसानी से पका सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें आपको केवल सामग्री को काटकर पकाना होता है।

इस तरीके के जरिए पकाए भोजन में तेल का कम उपयोग होता है जो सामग्री को स्वस्थ और लो फैट बनाता है।

स्टिर फ्राइंग प्रक्रिया में भोजन अधिक तापमान पर पकता है। जिसकी वजह से मीट जैसे उत्पाद भी अंदर तक पक जाते हैं। इसमें इनके कच्चे होने का डर नहीं रहता। ऐसे में पूरी तरह पक जाने पर

फूड पॉइजनिंग

का खतरा भी कम होता है।

​खाने को कैसे करें स्टिर फ्राय
​खाने को कैसे करें स्टिर फ्राय

आप स्टिर फ्राइंग के लिए ऐसे तेल का उपयोग करें, जो उच्च तापमान पर भी सहनशील रहते हो, जैसे सूरजमुखी तेल, मूंगफली तेल, कैनोला तेल आदि।

स्टिर फ्राइंग के दौरान कई तरह की सब्जियों को शामिल करें जैसे

पालक

, मटर, फूलगोभी, गाजर आदि। ध्यान रहे कि आपकी प्लेट पूरी तरह कलरफुल रहे।

अपनी थाली में

प्रोटीन की मात्रा

को बेहतर रखने के लिए आप लीन मीट को इसमें शामिल कर सकते हैं। लीन मीट के कुछ विकल्प इस प्रकार हैं, चिकन, सालमन, टर्की, और झींगा आदि।

आप अपनी डिश को फ्लेवर देने के लिए लो सोडियम सोय सॉस और लो शुगर वाले मसालों का उपयोग करें।

आप अपनी स्टिर फ्राइंग रेसिपी में दही, छाछ या योगर्ट शामिल कर सकते हैं। इससे आपके भोजन में प्रोबायोटिक्स शामिल हो जाएंगे और यह भोजन को स्वादिष्ट तो बनाएंगे ही। साथ ही पोषक तत्वों की मात्रा को भी बढ़ा देंगी।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here