Akhilesh Yadav: शिवपाल को लेकर सवाल पर भड़के अखिलेश, जानिए चाचा के बीजेपी में जाने की ‘अफवाह’ पर क्या बोले

0
38

लखनऊः उत्तर प्रदेश की सियासत में इन दिनों शिवपाल यादव चर्चा का केंद्र बने हैं। भतीजे अखिलेश यादव से नाराज बताए जा रहे प्रसपा मुखिया शिवपाल के बीजेपी के साथ जाने की खबरें चल रही हैं। बताया जा रहा है कि बीजेपी उन्हें राज्यसभा भेज सकती है। हालांकि, शिवपाल ने इस संबंध में कुछ भी साफतौर पर नहीं कहा है। उन्होंने समय आने पर उचित निर्णय लेने की बात कही है। वहीं सपा मुखिया अखिलेश भी इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं बता रहे हैं। गुरुवार को कन्नौज पहुंचे अखिलेश से जब शिवपाल से जुड़ा एक सवाल पूछा गया तो वह भड़क गए।

शिवपाल और अखिलेश यादव के बीच रिश्ते लगातार उतार-चढ़ाव भरे दिखते रहे हैं। अखिलेश के सपा मुखिया बनने के बाद से ही चाचा-भतीजे में मतभेद शुरू हुए थे। शिवपाल ने सपा से अलग होकर अपनी पार्टी बना ली। हालांकि, साल 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले शिवपाल और अखिलेश में समझौता हो गया था। चाचा ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि उन्होंने भतीजे अखिलेश को अपना नेता मान लिया है। प्रसपा ने सपा के साथ गठबंधन किया लेकिन अखिलेश ने चाचा की पार्टी को एक भी सीट नहीं दी। खुद शिवपाल जसवंतनगर सीट से सपा के सिंबल पर चुनाव लड़े।

योगी से मुलाकात के बाद बढ़ी अटकलें
विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद एक बार फिर अखिलेश और शिवपाल के रिश्ते तब तल्ख हो गए जब सपा के विधायक दल की मीटिंग में शिवपाल को नहीं बुलाया गया। आहत शिवपाल ने सार्वजनिक तौर पर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। इसके कुछ देर बाद ही उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। तभी से यह अटकलें हैं कि शिवपाल बीजेपी में जाने की कोशिश में हैं। बदले में उन्हें राज्यसभा भेजा जा सकता है और उनके बेटे आदित्य यादव को जसवंतनगर सीट से चुनाव लड़वाया जा सकता है।

सवाल पर भड़के अखिलेश
कई दिनों से इसे लेकर अफवाहों का बाजार गर्म है। शिवपाल से जब इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने बीजेपी में जाने की अटकलों को खारिज नहीं किया। उन्होंने कहा कि समय आने पर वह उचित निर्णय लेंगे। वहीं शुक्रवार को कन्नौज पहुंचे अखिलेश से जब एक पत्रकार ने शिवपाल को लेकर सवाल किया तो वह भड़क गए। शिवपाल को लेकर पूछे गए सवाल पर अखिलेश यादव ने पत्रकार से कहा कि इन बातों से जुड़ा सवाल पूछकर आपको वक्त बर्बाद नहीं करना चाहिए।

अखिलेश यादव और शिवपाल यादव

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here