‘वह भारत में बॉस की तरह बल्लेबाजी करता है’, सुनील गावस्कर ने मयंक अग्रवाल की तारीफ में पढ़े कसीदे

0
46

नई दिल्ली: अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) को श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से बाहर कर दिया गया था। ये दोनों अनुभवी बल्लेबाज काफी समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। इसके बाद इस सीरीज में भारतीय बल्लेबाजी क्रम नए अंदाज में नजर आया। मोहाली में नंबर तीन पर हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) बल्लेबाजी करने उतरे और रहाणे के नंबर पांच पर मुंबई के ही श्रेयर अय्यर (Shreyas Iyer) ने मोर्चा संभाला। इस बीच युवा शुभमन गिल (Shubman Gill) को प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिल पाई।

केएल राहुल (KL Rahul) इस सीरीज के लिए टीम के साथ नहीं हैं। ऐसे में मैनेजमेंट के पास रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के साथ पारी की शुरुआत करवाने के लिए शुभमन गिल (Shubman Gill) या मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) का विकल्प था। अग्रवाल साउथ अफ्रीका (India vs South Africa) में संघर्ष करते हुए नजर आए थे। वहीं, गिल (Shubman Gill) ने अपनी पिछली तीन पारियों में उपयोगी रन बनाए थे। ऐसे में लग रहा था कि रोहित (Rohit Sharma) के साथ उन्हें ही श्रीलंका सीरीज के पहले टेस्ट में मौका मिलेगा लेकिन आखिर में टीम प्रबंधन ने अग्रवाल को चुना।

इक्कतीस वर्षीय अग्रवाल ने मोहाली में अच्छी शुरुआत की लेकिन 33 रन बनाकर आउट हो गए। हालांकि महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) अब भी अग्रवाल को शुभमन गिल पर तरजीह देते हैं। उन्होंने कहा कि गिल (Shubman Gill) ने पिछले कुछ महीनों से क्रिकेट नहीं खेला है। इसके साथ ही गावस्कर (Sunil Gavaskar) यह भी मानते हैं कि अग्रवाल भारतीय जमीन पर कमाल का खेल प्रदर्शन करते हैं।

गावस्कर ने कहा, ‘गिल ने बीते दो महीने से कोई क्रिकेट नहीं खेला है। उन्होंने रणजी ट्रॉफी भी नहीं खेला है। तो अगर आप भारत के लिए खेलते हैं तो आपको थोड़ी प्रैक्टिस की जरूरत होती है। बेशक, उनके पास प्रतिभा है, इसमें कोई संदेह नहीं है। लेकिन अंत में आप फॉर्म को नजरअंदाज नहीं कर सकते।’

गावस्कर (Sunil Gavaskar Talking) ने स्पोर्ट्स तक के साथ बातचीत में कहा, ‘अगर आप ध्यान से देखें तो अग्रवाल ने भारत की घरेलू सीरीज में हमेशा रन बनाए हैं। वह भारत में बॉस की तरह बल्लेबाजी करते हैं लेकिन विदेशों में रन नहीं बनाते। घरेलू टेस्ट सीरीज में वह कम से कम एक बड़ा शतक या दोहरा शतक लगाते हैं। तो उन्हें ही पारी की शुरुआत करनी चाहिए।’

गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने इसके साथ ही विहारी और अय्यर को भी टीम में बनाए रखने की वकालत की। उन्होंने कहा, ‘और अगर आप नंबर तीन की बात करें तो वहां हनुमा विहारी हैं। उन्होंने क्या गलत किया है? उन्हें साउथ अफ्रीका में एक मौका मिला, वहां उन्होंने निचले क्रम के साथ बल्लेबाजी की और संयम के साथ बल्लेबाजी की। उन्होंने भारत की दूसरी पारी में रन जोड़े। तो उन्हें और मौके मिलने चाहिए।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here