PUBG को भी फेल कर देंगे ये धाकड़ Mobile Games, गेमर्स की हो जाएगी मौज

0
49

नई दिल्ली। मोबाइल गेमर्स के लिए एक खुशखबरी है। दरअसल, जल्द ही मोबाइल गेमर्स को एक और रॉयल शूटर गेम मिलने वाला है। एक्टिविज़न ने ये ऐलान किया है कि ‘कॉल ऑफ़ ड्यूटी: वारज़ोन’ बहुत जल्द स्मार्टफोन के लिए अपना रास्ता बनाने वाला है। हालांकि, अभी तक कंपनी ने इस गेम के लॉन्च को लेकर कोई डिटेल्स शेयर नहीं की हैं, लेकिन इस बारे ये बात जरूर की है कि मोबाइल अवतार में इस पॉपुलर गेम से हम क्या- कुछ उम्मीद कर सकते हैं।

एक्टिविज़न ने गुरुवार को जारी अपने बयान में कहा, “हम एक बिल्कुल नया, AAA मोबाइल एक्सपीरियंस बना रहे हैं, Call of Duty: Warzone to players on the go को और भी ज्यादा एक्साइटिंग बना देगा।‘’ कंपनी ने Call of Duty: Warzone के बारे में कहा है कि ये एक बहुत बड़े पैमाने पर बैटल रॉयल एक्सपीरियंस होगा, जिसे मूल रूप से मोबाइल के लिए हाईटेक टेक्नोलॉजी के साथ डिजाइन किया जाएगा, जो आने वाले कई सालों तक दुनिया भर के गेमर्स का मनोरंजन करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।”

हालांकि, एक्टिविज़न ने गेम की क्रॉस-डिवाइस उपयोगिता के बारे में बात नहीं की है, या इसमें बारे में भी नहीं बताया कि क्या आप केवल कॉल ऑफ़ ड्यूटी: वारज़ोन किसी और मोबाइल प्लेयर्स के साथ खेल सकते हैं। पावरफुल स्मार्टफोन की वजह से मोबाइल गेम्स काफी पॉपुलर हो चुके हैं और रेवेन्यू के प्वाइंट पर भी ये काफी पॉपुलर हैं। एक्टिविज़न इसे अच्छी तरह से जानता है और इसलिए ये संभावना है कि कॉल ऑफ़ ड्यूटी: मोबाइल की सफलता ने उन्हें उभरते हुए सेगमेंट में एक और शॉट देने पर विचार किया है।

और एक बात आपको बता दें कि कंपनी के लिए इन-ऐप खरीदारी के जरिए पैसा बनाने की गुंजाइश बहुत बड़ी है। क्राफ्टन, एक्टिविज़न और गरेना जैसी कंपनियों ने पिछले कुछ सालों में PUBG मोबाइल (और BGMI), कॉल ऑफ़ ड्यूटी: मोबाइल और फ्री फायर जैसे गेम्स के साथ मोबाइल गेमिंग के क्रेज का एक्सपीरियंस किया है।

हम ये देखने के लिए काफी एक्ससाइटेड हैं कि एक्टिविज़न अपने मौजूदा कॉल ऑफ़ ड्यूटी वर्जन पर कैसे दांव लगाता है, और खुद को पहले वर्जन के सक्सेस फॉर्मेले को दोहराने का मौका देता है, या नहीं। बता दें कि इस साल एक्टिविज़न पहले ही अच्छे और बुरे दोनों वजहों से चर्चा में है।

ये न सिर्फ लंबित मुकदमों का सामना कर रहा है, बल्कि इस डील का भी सामना कर रहा है, जो जनवरी में रिपोर्ट किए गए $ 68.7 बिलियन के अधिग्रहण के बाद माइक्रोसॉफ्ट का हिस्सा बन जाएगा और इस केस को साल के आखिरी से पहले अंतिम रूप देने की संभावना जताई जा रही है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here