ड्रैगन ने जापान को डराया, चीनी युद्धपोतों ने रेकॉर्ड 64 घंटे तक की विवादित द्वीपों की घेरेबंदी

0
36

टोक्‍यो: लद्दाख से लेकर ताइवान तक दादागिरी दिखा रहे चीनी ड्रैगन ने अब जापान को धमकाने की कोशिश की है। चीन के तटरक्षक बल के दो युद्धपोतों ने इस सप्‍ताह रेकॉर्ड 64 से भी ज्‍यादा घंटे समय तक जापान के समुद्री इलाके में विवादित द्वीपों की घेरेबंदी जारी रखी। यह पिछले एक दशक में चीन की ओर से जापानी इलाके में सबसे लंबा घुसपैठ है। जापान के तटरक्षक बल ने ड्रैगन की इस दादागिरी की जानकारी दी है।

जापान ने शुक्रवार को बताया कि मंगलवार को दो चीनी युद्धपोत पूर्वी चीन सागर में जापानी जलक्षेत्र में घुसे थे और उन्‍होंने जापान के एक मछली पकड़ने वाले जहाज पर नजर रखी जो उस समय इन द्वीपों के पास मौजूद था। ये चीनी जहाज गुरुवार शाम को इलाके से वापस गए। एक समय में तो चीनी जहाज जापान के नियंत्रण वाले सेनकाकू द्वीप समूह से मात्र 3 किमी दूर तक पहुंच गए थे।
रूस के यूक्रेन पर हमले से जापान अलर्ट, 77 साल बाद जुटा रहा पहले हमला करने की ताकत, निशाने पर चीन
सेनकाकू पर साल 1972 से ही जापान का कब्‍जा

जापानी तटरक्षक बल ने कहा कि चीनी जहाज उसके जलक्षेत्र में मौजूद थे। चीनी जहाजों की इस हरकत से भड़के जापान ने भी अपने गश्‍ती जहाजों को चीनी जहाजों के पास भेजा। जापानी जहाजों ने चीनी जहाजों को तत्‍काल जापान के क्षेत्रीय जलसीमा से निकल जाने के लिए क्‍या। सेनकाकू इलाके में इस तरह का चीनी घुसपैठ कोई नई बात नहीं है। जापान और चीन दोनों ही दावा करते हैं कि यह इलाका उनका है जिस पर साल 1972 से ही जापान का कब्‍जा है।

वहीं ताइवान भी दावा करता है कि सेनकाकू द्वीप पर उसका स्‍वामित्‍व है। यह द्वीप टोक्‍यो से 1900 किमी की दूरी पर है। चीनी का दावा है कि उसे इस द्वीप के आसपास गश्‍त करने का अधिकार है। साल 2012 के बाद यह चीन की ओर से सबसे लंबे समय तक चली घुसपैठ है। जापान ने एक निजी जापानी मालिक से द्वीप के कुछ हिस्‍सों को खरीदा है। इससे पहले साल 2020 में चीनी जहाजों ने 57 घंटे तक घुसपैठ की थी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here